संक्रमित मरीजों की हिट ऐप के जरिये होम आइसोलेशन के दौरान की जा रही निगरानी..

– हिट ऐप पर मरीजों की जानकारी अपलोड कर एएनएम को किया जा रहा टैग
– एएनएम से प्रतिदिन दिन ली जा रही है मरीजों की स्थिति की जानकारी

बक्सर : जिले में भले ही कोरोना संक्रमण का प्रसार तेज है। वहीं, स्वास्थ्य विभाग की तत्परता व निगरानी की बदौलत संक्रमण से लोग ठीक भी हो रहे हैं। बीते 16 जनवरी को जिले में 36 नये मरीजों की पुष्टि हुई थी। जिसके बाद संक्रमित मरीजों की कुल संख्या 429 हो गयी। जिनमें फिलहाल 345 मामले ही एक्टिव हैं। अब तक संक्रमण से 84 लोग पूरी तरह स्वास्थ्य हो चुके हैं। जहां तक बात की जाये संक्रमित मरीजों की, सभी का इलाज होम आइसोलेशन में किया जा रहा है।

मॉनिटरिंग करने में काफी सहुलियत मिल रही है :

डीपीएम सन्तोष कुमार ने कहा, पूर्व में भी होम आइसोलेट संक्रमित मरीजों का इलाज बेहतर तरीके से किया जाता रहा है। लेकिन, हिट ऐप से ट्रैकिंग के बाद मरीजों की स्थिति जानने व मॉनिटरिंग करने में काफी सहुलियत मिल रही है। उन्होंने बताया, किसी भी मरीज की रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद उनका डिटेल हिट ऐप पर अपलोड किया जाता है। जिसके बाद उनके इलाके की एएनएम को टैग किया जाता है। सम्बंधित एएनएम की जम्मेदारी होती है कि वे मरीजों के घर जाकर उनकी स्थिति और दिनचर्या की निगरानी करेंगी। फिर मरीजों की स्थिति ऐप पर ही अपडेट करेंगी। जिसके बाद जिला स्तर से लेकर प्रखण्ड स्तर तक की टीम किसी भी मरीज की स्थिति से अवगत हो सकेंगे।

ऐप के जरिये मरीजों के ऑक्सीजन लेवल पर भी रखी जाती है नजर :

डीपीएम ने बताया, हिट ऐप के माध्यम से मरीजों के बारे में लगातार अपडेट मिल जा रहा है। इससे यह फायदा हो रहा है कि अगर जरा सी मरीजों की हालत बिगड़ती है तो उसे तत्काल इलाज की सुविधा मुहैया करा दी जाती है। इससे मरीजों को भी सहूलियत मिली है और स्वास्थ्यकर्मियों को भी। मालूम हो कि हिट ऐप के जरिये मरीजों की ट्रैकिंग कर ऑक्सीजन लेवल मापा जाता है। अगर ऑक्सीजन का लेवल 94 से कम रहता है तो उसे भर्ती होने की सलाह दी जाती है। इसके अलावा मरीजों के स्वास्थ्य की स्थिति का आकलन कर उसे हिट एप पर अपलोड किया जाता है। जिस पर जिला प्रशासन से लेकर मुख्यमंत्री कार्यालय तक की नजर रहती है।

संक्रमण को हराने में लोगों की भूमिका अहम :

डीपीएम संतोष कुमार ने बताया, जिले में कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए जिलेवासियों को सतर्क रहना होगा। उन्होंने सभी लोगों से अपील किया कि वे अनावश्यक अपने घरों से निकलने से परहेज बरतें। यदि किसी अनिवार्य कार्य से घर से बाहर निकलना जरूरी हो तो कोरोना गाइड लाइन का पूरी तरह से पालन करते हुए अपने- अपने घरों से बाहर निकलें। सभी लोग देश और समाज के प्रति अपनी जिम्मेदारी को समझते हुए खुद भी कोरोना गाइडलाइन का पालन करें और दूसरों को भी इसके लिए प्रेरित करें। सभी लोग इस अवधि के दौरान घरों से बाहर न निकलकर अपने परिवार के साथ अपना कीमती वक्त गुजारें ताकि इस विभीषिका के वक्त पूरे परिवार को एक-दूसरे का साथ मिल सके और सभी लोग सामूहिक प्रयास से कोरोना संक्रमण से बचे रह सकें।

Share
error: Content is protected !!